बिजनेस लोन कैसे लें| How to get Business Loan

 

बिजनेस लोन कैसे लें| How to get Business Loan
बिजनेस लोन कैसे लें| How to get Business Loan

    बिजनेस लोन कैसे लें| How to get Business Loan

    देश में छोटे उद्यमों को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने कई तरह की लोन स्कीमें शुरू की हैं. प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के अलावा अन्य कई स्कीमें भी हैं जिनमें आप छोटी रकम से लेकर बड़े लोन तक ले सकते हैं।


    बिजनेस लोन क्या है What is a Business Loan

    What is a Business Loan

    यह वास्तव में आपकी कारोबारी जरूरतों को पूरा करने के लिए लिया जाने वाला लोन है.अगर आप भी किसी बैंक से बिजनेस लोन लेना चाहते हैं तो उसकी प्रक्रिया निम्न प्रकार है-

    1. विस्तृत बिजनेस प्लान बनाएं.
    2. आप जिस बैंक से कर्ज लेना चाहते हैं, उसे अपना बिजनेस प्लान बताएं.
    3. इसके बाद यह तय करें कि आपको कितना लोन चाहिए.
    4. अपने क्रेडिट स्कोर के बारे में पता करें.

    वास्तव में बैंक आपकी कारोबारी योजना के हिसाब से आपको लोन देने का फैसला करते हैं. अगर बैंक को यह लगता है कि आपका कारोबार और उससे होने वाला मुनाफा इतना होगा कि आप अपने खर्च पूरे करने के बाद तय अवधि में बैंक का लोन वापस चुकाने में समर्थ होंगे, तभी बैंक आपका लोन मंजूर करता है।

    बिजनेस लोन के लिए क्या करे| What to do for Business Loans

    What to do for Business Loans
    1. सबसे पहले अपना बिजनेस प्लान तैयार करिए।
    2. जिस बैंक अथवा सरकारी योजना के तहत लोन लेना है उसकी विस्तृत जानकारी एकत्र कर लीजिये।
    3. उस जानकारी के आधार पर लोन के लिए आवश्यक दस्तावेज़ तैयार कर लीजिये।
    4. अब लोन के लिए बैंक के पास जाइए अथवा ऑनलाइन आवेदन करिए।

    बिजनेस लोन लेने के फायदे क्या हैं| Benefits Business Loan

    Benefits Business Loan
    1. नकदी की आवक,
    2. कारोबारी जरूरत के लिए पैसे की मदद,
    3. छोटी और लंबी, दोनों अवधि के लिए वित्तीय जरूरत पूरी होना।

    कौन कर सकता है बिजनेस लोन के लिए आवेदन| Who can Apply

    Who can Apply
    1. खुद का कामकाज कर रहे व्यक्ति उद्यमी,
    2. प्राइवेट लिमिटेड कंपनियां,
    3. पार्टनरशिप फर्में।

    बिजनेस लोन के लिए सरकारी योजनाओं के नाम| Govt Schemes for Loan

    Govt Schemes for Loan

    मुद्रा योजना:- मैक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट एंड रीफाइनेंस एजेंसी लिमिटेड, इस योजना का लक्ष्य गैर पारंपरिक व्यवसाइयों को उद्यम स्थापित करने के लिए बैंक द्वारा कम ब्याज दर पर लोन उपलब्ध कराना है। इस योजना के तहत उद्यम के प्रकृति के अनुसार लोन उपलब्ध कराने के लिए इसे तीन श्रेणी में विभाजित किया गया है:-शिशु श्रेणी, किशोरे श्रेणी,एवं तरुण श्रेणी।

    प्रधानमंत्री एम्प्लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम-इस योजना के तहत  लोन को दो वर्गों में विभाजित किया गया है।

    1. सर्विस सेक्टर में बिजनेस हेतु रूपए 15 लाख तक का लोन दिए जाने का प्रावधान है।
    2. मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में बिजनेस हेतु रूपए 25 लाख तक का लोन दिए जाने का प्रावधान है।

    महिलाओं को बिजनेस हेतु उपलब्ध कराने के लिए कई बैंकों ने योजनाओं की शुरुआत की है जो निम्नलिखित है-

    वैभव लक्ष्मी योजना:- यह योजना बैंक आफ बडौदा द्वारा महिलाओं को व्यवसाय हेतु लोन देने के लिए  शुरू किया गया है।

    वी शक्ति योजना:- यह योजना विजया बैंक द्वारा महिलाओं को व्यवसाय हेतु ऋण देने के लिए शुरू क्या गया है।

    सिंड महिला शक्ति :- इस योजना के सिंडिकेट बैंक द्वारा 20 हज़ार महिला कारोबारियों को लोन दिए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

    बिजनेस के लिये बैंक से कैसे लोन लें| Loan from a Bank

    Loan from a Bank

    बैंक से लोन के लिए आपको कुछ बातों का विशेष खयाल रखना चाहिए। आपके पास बिजनेस शुरु करने के लिए साफ सुधरा प्लान होना चाहिए जिससे बैंक आपको लोन दे सके, बैंक से लोन प्राप्त करने के लिए कुछ चरण निम्न प्रकार है-

    पहला चरण-बैंक के पास लिखित बिजनेस प्लान के साथ जायें। आप चाहें तो बिजनेस प्लान लिखने वालों की मदद ले सकते हैं। लोन की राशि आपके बिजनेस के स्वरूप पर निर्भर करता है साथ ही आप बिजनेस में कितना कमा सकते हैं।

    दूसरा चरण-हर बैंक का लोन देने का अपना नियम होता है ऐसे में लोन के लिए आवेदन करने से पहले बैंक के बारे में जानकारी जरूर प्राप्त करें, कि क्या बैंक आपकी जरूरत के हिसाब से लोन दे सकती है या नहीं। कई बैंकों की स्कीम की खोजबीन करें, माइक्रो, छोट और मध्यम वर्ग के व्यापार के लिए अलग-अलग नियम लागू होते हैं ऐसे में इन नियमों की जानकारी प्राप्त करें।

    तीसरा चरण-सभी दस्तावेज तैयार रखें, अगर आप बिजनेस लोन के लिए गारंटी स्वरूप कुछ दे सकते हैं तो लोन लेना आसान हो सकता है। ऐसे में अगर आप डिफाल्ट होते हैं तो उस संपत्ति से बैंक पैसे वसूल सकती है।

    चौथा चरण-एक बार दस्तावेजों के जमा होने के बाद यह बैंक पर निर्भर करता है कि वह लोन देना चाहता है या नहीं। लोन की धनराशि कितनी होगी इस बात का भी फैसला बैंक आपके बिजनेस के स्वरूप के आधार पर देगी।

    Read Also: यह भी पढ़ें


    Post a Comment

    0 Comments
    * Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.